समाचार
कोलंबिया ने राष्ट्रीय विकास हेतु अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत से सहायता मांगी

कोलंबिया ने अपने राष्ट्रीय विकास के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने हेतु भारत की सहायता लेने में रुचि दिखाई है।

भारत में देश की राजदूत मारियाना पाचेको ने मंगलवार (29 जून) को अंतरिक्ष विभाग में सचिव और बेंगलुरु मुख्यालय वाले भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के अध्यक्ष सोमनाथ एस से इस सिलसिले में भेंट की।

इसरो के एक बयान के अनुसार, एक संक्षिप्त बैठक में पाचेको ने सितंबर 2021 में हस्ताक्षरित भारत-कोलंबिया समझौता ज्ञापन के तहत दोनों देशों के मध्य चल रहे अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में जारी सहयोग पर संतोष व्यक्त किया।

अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि राजदूत ने अपने राष्ट्रीय विकास के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के लाभों का उपयोग करने हेतु भारत का समर्थन प्राप्त करने में रुचि दिखाई है।

सोमनाथ ने कोलंबिया में उपयोगकर्ता मंत्रालयों के अधिकारियों के प्रशिक्षण के माध्यम से क्षमता निर्माण में हरसंभव सहायता करने की पेशकश की। साथ ही उन्होंने विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए उपग्रह डाटा का उपयोग करने को आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण हेतु इसरो की तत्परता से अवगत करवाया।

इसरो ने कहा, “भारतीय अंतरिक्ष संस्थाओं के माध्यम से कोलंबिया के लिए उपग्रहों के निर्माण व प्रक्षेपण और वास्तविक समय के अनुप्रयोगों के लिए कोलंबिया में उपग्रह डाटा प्राप्त कराने पर भी सहयोग के संभावित क्षेत्रों पर चर्चा की गई।”