समाचार
सहायक कंपनियाँ विद्युत क्षेत्र को छोड़ अन्य ई-नीलामियाँ करने से बचें- कोल इंडिया

कोल इंडिया ने अपनी सहायक कंपनियों से हालात सामान्य होने तक विद्युत क्षेत्र के लिए विशेष आगे की ई-नीलामी को छोड़कर कोयले की किसी भी तरह की अन्य ई-नीलामी आयोजित करने से मना किया है। विद्युत संकट की देखते हुए कायले की आपूर्ति हेतु विद्युत क्षेत्र को प्राथमिकता दी जा रही है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कोल इंडिया ने सहायक कंपनियों को भेजे एक पत्र में कहा, “विद्युत घरों में भंडार की वर्तमान स्थिति को देखते हुए भंडार को पुनः भरने के लिए विद्युत क्षेत्र के लिए कोयले की आपूर्ति को प्राथमिकता दी जा रही है। विद्युत क्षेत्र के लिए अग्रिम ई-नीलामी को छोड़ कर हालात सामान्य होने तक किसी भी अन्य ई-नीलामी से बचा जाए।”

पत्र में आगे कहा गया, “यदि कोई कोयला कंपनी विद्युत क्षेत्र को भेजे जाने वाले कोयले को प्रभावित किए बिना किसी अन्य क्षेत्र को ई-नीलामी करना चाहती है तो उसकी योजना से पहले उचित कारण के साथ कोल इंडिया को बताया जाए।”

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ने कहा कि देश हित में यह केवल एक अस्थायी प्राथमिकता है। इसका आशय ई-नीलामी प्रारूप को रोकना नहीं है। कोल इंडिया की सहायक कंपनियों में ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (ईसीएल), भारत कोकिंग कोल लिमिटेड (बीसीसीएल) और सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) सम्मिलित हैं, जिन्हें पत्र भेजा गया है।