समाचार
“एक ही वर्ग की जनसंख्या बढ़ने से अराजकता की आशंका बढ़ेगी”- मुख्यमंत्री योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर सोमवार को कहा, “एक ही वर्ग की जनसंख्या बढ़ने से अराजकता बढ़ेगी। असंतुलन नहीं होना चाहिए। जिन देशों की जनसंख्या ज्यादा होती है, वहाँ जनसांख्यिकीय असंतुलन चिंता का विषय बन जाता है।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित कार्यक्रम से पूर्व जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़ा की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाई।

उन्होंने कहा, “बात जब परिवार नियोजन व आबादी स्थिरीकरण की हो तो यह भी ध्यान रखना होगा कि नियंत्रण के प्रयास सफलतापूर्वक पूरे हों लेकिन कहीं भी जनसांख्यिकीय असंतुलन की स्थिति न उत्पन्न हो।”

योगी आदित्यनाथ ने कहा, “ऐसा न हो कि किसी एक वर्ग की आबादी बढ़ने की गति ज्यादा हो और जो मूल निवासी हों, उन पर जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रयासों से, प्रवर्तन से और जागरूकता प्रयासों से उनकी आबादी को नियंत्रित कर दिया जाए। जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रयासों से सभी मत मजहब, वर्ग, सम्प्रदाय को एक समान रूप से जोड़ा जाना चाहिए।”

उन्होंने कहा, “प्रदेश ने गत 5 वर्ष में अच्छे परिणाम दिए हैं। मैटरनल एनीमिया आज 51.1 प्रतिशत से घटकर 45.9 प्रतिशत रह गया है। 5 वर्ष में फुल इम्यूनाइजेशन 51.1 प्रतिशत से बढकर लगभग 70 प्रतिशत तक पहुँच गया है। संस्थागत प्रसव की दर जो पहले 67-68 प्रतिशत थी, वह आज 84 प्रतिशत की ओर जा रही है। मातृ-शिशु मृत्यु दर को नियंत्रित करने के प्रयासों के अच्छे परिणाम मिले हैं।”