समाचार
“निजी विद्यालयों में दो बहने साथ पढ़ रही हैं तो एक का शुल्क माफ करें”- योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार (2 अक्टूबर) को निर्देश दिया कि निजी विद्यालयों में यदि दो बहनें एक साथ शिक्षा प्राप्त कर रही हैं तो एक का शुल्क माफ किया जाए। यदि निजी विद्यालय ऐसा नहीं करते हैं तो संबंधित विभाग ऐसी एक छात्रा का ट्यूशन शुल्क भरेगा।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, लखनऊ के लोकभवन में छात्रवृत्ति वितरण कार्यक्रम के दौरान योगी आदित्यनाथ ने यह बात कही। साथ ही उन्होंने महात्मा गांधी के चित्र पर पुष्प भी अर्पित किए। उन्होंने कहा, “इसके लिए जिला स्तर पर नोडल अधिकारी बनाए जाएँ। सरकारी विद्यालयों में महिला शिक्षा को बढ़ावा दिया जाए।”

उन्होंने अनुसूचित जाति-जनजाति, अल्पसंख्यक, पिछड़ा, सामान्य वर्ग के आवेदक विद्यार्थियों को 30 नवंबर तक छात्रवृत्ति वितरण पूरा करने के निर्देश दिए।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं गांधी जी और लाल बहादुर शास्त्री को नमन करता हूँ। राष्ट्रपिता ने सत्य और अहिंसा के बल पर देश को स्वतंत्रता दिलवाई। लाल बहादुर शास्त्री ने 1965 के युद्ध में दुश्मन देश को लोहे के चने चबाने के लिए विवश कर दिया था। हमारे लिए आवश्यक है कि हम इन दो महान विभूतियों से प्रेरणा प्राप्त करें।”

उन्होंने कहा, “हम सब स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव मना रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 को स्वच्छता अभियान शुरू किया था। मैंने स्वयं देखा कि उत्तर प्रदेश के 38 जिलों में हर वर्ष दिमागी बुखार से सैकड़ों बच्चे दम तोड़ देते थे। स्वच्छता अभियान के कारण उन जिलों में अब यह समस्या 97 प्रतिशत नियंत्रित हो चुकी है।”