समाचार
मथुरा व वृंदावन में कृष्ण जन्मस्थल का 10 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र तीर्थस्थल घोषित

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने शुक्रवार (10 सितंबर) को मथुरा और वृंदावन में कृष्ण जन्मस्थल के 10 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र को तीर्थस्थल घोषित कर दिया। गत माह ही मुख्यमंत्री ने जन्माष्टमी पर कृष्ण जन्मस्थल पहुँचकर भगवान् के दर्शन किए थे।

आज तक की रिपोर्ट के अनुसार, इस घोषणा के साथ कृष्ण जन्मस्थल के 10 किलोमीटर क्षेत्र के दायरे में अब मांस और शराब की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। तीर्थ स्थल घोषित किए गए क्षेत्र में नगर निगम के 22 वार्ड भी आते हैं।

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की निगरानी में उत्तर प्रदेश में तीर्थस्थलों के विकास का कार्य चल रहा है। वाराणसी, अयोध्या, मथुरा आदि में सुविधाएँ पूर्व की अपेक्षा बेहतर की जा रही हैं। वाराणी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विशेष परियोजनाओं में से एक काशी विश्वनाथ गलियारे पर कार्य चल रहा है, जिसके शीघ्र पूरा होने की उम्मीद है। इसके निर्माण के बाद श्रद्धालु आसानी से भगवान् के दर्शन कर सकेंगे।

अयोध्या में भी राम मंदिर निर्माण का कार्य तेज़ी से जारी है। कहा जा रहा है कि वर्ष 2024 से पूर्व भव्य राम मंदिर का निर्माण पूरा हो जाएगा। इसके अतिरिक्त, मुख्यमंत्री ने प्रदेश के मार्गों को गड्ढा मुक्त करने का भी आदेश जारी किया है। उन्होंने संबंधित विभागों को गड्ढे जल्द भरवाने के निर्देश दिए हैं।