समाचार
चिराग पासवान को मिला पिता के 12 जनपथ स्थित बंगले को खाली करने का नोटिस

रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) से करीब-करीब बाहर हो चुके उनके बेटे चिराग पासवान को अब दिल्ली में अपने पिता के नाम आवंटित बंगले को खाली करने का नोटिस मिल गया है। वे वहाँ अपनी माँ व कुछ अन्य परिवार वालों के साथ रह रहे हैं।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्रीय आवास मंत्रालय की ओर से उन्हें 12 जनपथ स्थित सरकारी बंगला खाली करने का आदेश मिला है। मंत्रालय के डायरेक्टोरेट ऑफ एस्टेट्स ने 14 जुलाई को एक आदेश पास कर नोटिस जारी किया था।

नोटिस मिलने के बाद चिराग पासवान ने इसे पिता की बरसी तक रखने की अपील की लेकिन इसको लेकर केंद्र की तरफ से अब तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। हालाँकि, चिराग पासवान को सांसद के रूप में एक और बंगला मिला हुआ है। इसके बाद भी वे 12 जनपथ वाले बंगले में ही रहते हैं। यह लुटियन दिल्ली में बने सरकारी बंगलों में सबसे बड़े आवासों में से एक है।

इससे पूर्व, केंद्रीय आवास मंत्रालय की ओर से चिराग के चाचा पशुपति कुमार पारस को 12 जनपथ स्थित बंगले में रहने के लिए कहा गया था लेकिन उन्होंने यह प्रस्ताव खारिज कर दिया था। उनका कहना था कि वे इस बंगले में रहकर कोई गलत राजनीतिक संदेश नहीं देना चाहते हैं।

बता दें कि हाल ही में पार्टी के पाँच सांसदों के साथ मिलकर पशुपति कुमार पारस ने लोजपा पर अपना अधिकार जमा लिया था और चिराग को उनकी ही पार्टी से अलग-थलग कर दिया था।