समाचार
चीनी बिजली कंपनियों की पाक को चेतावनी, भुगतान नहीं किया तो बंद कर देंगे संयंत्र

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) परियोजनाओं के तहत काम कर रही चीनी कंपनियों ने पाकिस्तानी अधिकारियों को चेतावनी दी कि यदि उन्हें 300 अरब रुपये (1.59 अरब डॉलर) का भुगतान नहीं किया गया तो वह बिजली संयंत्रों को बंद करने को विवश हो जाएँगे।

डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के योजना और विकास मंत्री अहसान इकबाल के साथ एक बैठक में चीनी स्वतंत्र बिजली उत्पादकों (आईपीपी) ने अपने बकाए के बारे में शिकायत की और चेतावनी दी कि बिना अग्रिम भुगतान के वे कुछ दिनों के भीतर बिजली संयंत्र बंद कर देंगे।

रिपोर्ट के अनुसार, चीनी आईपीपी के प्रतिनिधि ने कहा कि गर्मी की चरम आवश्यकताओं को पूरा करने हेतु उत्पादन को अधिकतम करने का अधिकारी दबाव डाल रहे थे लेकिन बिना भुगतान के यह हमारे लिए असंभव है।”

चीन की बिजली कंपनियों ने शिकायत की कि ईंधन की कीमतें विशेष रूप से कोयले की कीमतों में तीन से चार गुना वृद्धि हुई है, जिसका अर्थ है कि उन्हें ईंधन की व्यवस्था करने के लिए कम से कम तीन से चार गुना अधिक पैसे खर्च करने होंगे।

चीन के आईपीपी की चेतावनी तब आई है, जब पाकिस्तान ईंधन की बढ़ती कीमतों और गर्मी के मौसम में बढ़ते तापमान के बीच गंभीर ऊर्जा संकट का सामना कर रहा है।

न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान में विद्युत की कमी गत माह 7,468 मेगावॉट तक पहुंच गई थी, जिसके परिणामस्वरूप देश में 10-18 घंटे तक बिजली की कटौती हुई।

रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान में कुल बिजली उत्पादन 18,031 मेगावॉट है, जबकि मांग 25,500 मेगावॉट के आसपास है।