समाचार
चीन ने डब्ल्यूएचओ की कोविड-19 उत्पत्ति की नए सिरे से जाँच की मांग को खारिज किया

चीन ने शुक्रवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के कोविड-19 की उत्पत्ति की नए सिरे से जाँच के आह्वान को खारिज करते हुए कहा कि यह मांग वैज्ञानिक जाँच की बजाय राजनीति से अधिक प्रेरित है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, बीजिंग पर पुनः दबाव बढ़ रहा है कि वह महामारी के मूल की नई जाँच पर विचार करे क्योंकि यह पहली बार चीन के वुहान शहर से ही उभरकर सामने आया था।

डब्ल्यूएचओ की अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों वाली टीम जनवरी 2021 में पहले चरण की रिपोर्ट तैयार करने के लिए वुहान गई थी, जिसे उनके चीनी समकक्षों के साथ मिलकर बनाया गया था। हालाँकि, वायरस की उत्पत्ति कहाँ से हुई, इस पर निर्णायक स्थिति तक पहुँचने में टीम विफल रही थी।

गुरुवार को डब्ल्यूएचओ ने चीन से आग्रह किया कि वह संक्रमण की उत्पत्ति की अपनी जाँच को पुनः करने के लिए जल्द से जल्द कोविड-19 मामलों का शुरुआती डाटा साझा करे। इस पर चीन ने पलटवार कर कहा कि प्रारंभिक जाँच पर्याप्त थी और आगे के आँकड़ों की मांग वैज्ञानिक जाँच की बजाय राजनीति से प्रेरित है।

चीन के उप विदेश मंत्री मा झाओक्सू ने कहा, “हम वैज्ञानिक अनुरेखण का समर्थन करते हैं लेकिन राजनीति से प्रेरित जाँच का विरोध करते हैं और संयुक्त रिपोर्ट का बहिष्कार करते हैं। इसके साथ मा ने जाँच की नई शुरुआत के सुझावों को खारिज कर दिया।

उन्होंने कहा, “डब्ल्यूएचओ और चीन की संयुक्त रिपोर्ट के निष्कर्षों और सिफारिशों को अंतरराष्ट्रीय समुदाय और वैज्ञानिक समुदाय द्वारा मान्यता दी गई थी। ऐसे में भविष्य में वैश्विक रूप से संक्रमण का पता लगाने की एक नई शुरुआत इस रिपोर्ट के आधार पर ही की जानी चाहिए।”