समाचार
चारधाम परियोजना- सर्वोच्च न्यायालय ने 2 लेन वाली सड़कों के विस्तार की अनुमति दी

सर्वोच्च न्यायालय ने सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए चारधाम सड़क परियोजना के तहत मौजूदा सड़कों के विस्तार को 2 लेन में करने की अनुमति दी है। इसके लिए न्यायमूर्ति एके सीकरी की अध्यक्षता में एक निगरानी समिति का भी गठन किया गया।

900 किलोमीटर लंबी चारधाम राजमार्ग परियोजना उत्तराखंड के चार पवित्र धामों- यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ को हर मौसम में संयोजकता प्रदान करेगी।

सर्वोच्च न्यायालय 8 सितंबर, 2020 के आदेश में संशोधन की मांग करने वाली केंद्र की याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसने सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय को चारधाम राजमार्ग परियोजना पर 2018 के परिपत्र निर्धारित पथों की चौड़ाई 5.5 मीटर का पालन करने के लिए कहा था, जो चीन की सीमा तक जाती है।

रक्षा मंत्रालय ने आदेश और निर्देशों में संशोधन की मांग की है कि ऋषिकेश से माना तक, ऋषिकेश से गंगोत्री तक और टनकपुर से पिथौरागढ़ तक राष्ट्रीय राजमार्गों को दो पथों के विन्यास में विकसित किया जा सकता है।