समाचार
केंद्र सरकार ने विकलांगों के लिए घर पर ही कोविड-19 टीकाकरण की अनुमति दी

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुरुवार (23 सितंबर) को घोषणा की कि उसने विकलांगों को घर पर ही कोविड टीकाकरण की खुराक देने की अनुमति देने का निर्णय लिया। इस संबंध में 22 सितंबर को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पहले ही निर्देश जारी किए जा चुके हैं।

मंत्रालय की दैनिक प्रेसवार्ता में नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा, “यह उन लोगों के लिए व्यवस्था की जा रही है, जिनका बाहर निकलना प्रतिबंधित था या वे असमर्थ थे। इस वजह से वे टीका नहीं लगवा सके। शारीरिक रूप से अक्षम और विशेष आवश्यकताओं वाले लोगों के पास अब एसओपी का पालन करने के बाद उचित पर्यवेक्षण के तहत घर पर टीकाकरण करवाने का विकल्प होगा।

उन्होंने कहा कि यह कदम सुरक्षित, प्रभावी और सहायक होगा क्योंकि टीके पूरी तरह से सुरक्षित साबित हुए हैं। अब समाज को भी इस विकल्प का उपयोग करने और टीका लगवाने के लिए पात्र लोगों को जागरूक करने में सहायता करनी चाहिए।

इसके अतिरिक्त, राज्य सरकारों, जिला प्रशासन और नगर निगमों को यह सुनिश्चित करने की ज़िम्मेदारी लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा, ताकि वे इसे लागू करें।

प्रश्न-उत्तर सत्र में यह भी कहा गया कि विकलांगों को इन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए अलग से आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी।