समाचार
आगामी वर्ष 15 अगस्त तक चुनिंदा स्थानों व क्षेत्रों में 5जी सेवाएँ लॉन्च करने का प्रयास

केंद्र सरकार 2022 में लगभग 15 अगस्त तक 5जी सेवाएँ आरंभ करने का विचार कर रही है। इसके लिए स्पेक्ट्रम की नीलामी अगले वर्ष अप्रैल-मई तक हो सकती है।

केंद्रीय संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने दूरसंचार विभाग (डॉट) के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक यह समझने के लिए की कि क्या 2022 में स्वतंत्रता दिवस तक विशिष्ट स्थानों और क्षेत्रों में 5जी सेवाओं को व्यावसायिक रूप से लॉन्च करना संभव हो सकता है।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से दावा किया गया कि 5जी सेवाएँ उक्त समय तक शुरू की जा सकती हैं यदि डॉट बिना भार वाले स्पेक्ट्रम के बारे में स्पष्टता प्रदान करे, जिसे नीलामी प्रक्रिया के माध्यम से रखा जा सकता है।

उद्योग के एक सूत्र ने बताया, “यदि इन मुद्दों को शीघ्र सुलझा लिया जाता है तो दूरसंचार संचालक उपकरणों के लिए ऑर्डर दे सकते हैं और शुरू करने के आसपास सभी व्यवस्थाएँ कर सकते हैं, ताकि जब अप्रैल-मई में नीलामी आयोजित की जाए तो टेलीकॉम कम समय के भीतर सेवाएँ शुरू करने के लिए तैयार हो जाएँ।”

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) नीलामी से पहले फरवरी-मार्च में स्पेक्ट्रम के मूल्य निर्धारण पर अपनी सिफारिशें प्रदान करेगा।

ट्राई ने पहले दूरसंचार विभाग को पत्र लिखकर स्पेक्ट्रम की उपलब्धता और अन्य कंपनियों के बीच सरकारी संस्थाओं द्वारा इसके उपयोग के संबंध में एक स्पष्ट रोडमैप मांगा था।