समाचार
“सूमी में फँसे सभी 694 भारतीय विद्यार्थियों को निकाला गया”- हरदीप सिंह पुरी

यूक्रेन के सूमी में फँसे करीब 694 भारतीय विद्यार्थियों को सुरक्षित निकालने का कार्य शुरू हो गया। यह जानकारी केंद्र सरकार ने मंगलवार शाम को दी।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया, “बीती रात मैंने कंट्रोल रूम से जाँच की थी, सूमी शहर में 694 भारतीय विद्यार्थी शेष थे। आज बसों से वे सभी पोल्टावा के लिए रवाना हुए हैं।”

सूमी विश्वविद्यालय के एक मेडिकल विद्यार्थी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा, “बसें आ चुकी हैं और छात्रों ने उसमें चढ़ना शुरू कर दिया है। हमें बताया गया कि हम पोल्टावा जाएँगे। मैं प्रार्थना कर रहा हूँ कि हम सुरक्षित क्षेत्र में पहुँचे और यह दुख समाप्त हो जाए।”

विद्यार्थियों को सूमी और यूक्रेन की राजधानी कीव के पास इरपिन शहर से नागरिकों को निकालने के हिस्से के रूप में एक हरित गलियारे के माध्यम से मध्य यूक्रेन के एक शहर पोल्टोवा में स्थानांतरित कर दिया गया।

वहाँ के विदेश मंत्रालय ने सूमी नागरिकों को निकालने का एक वीडियो ट्वीट करते हुए कहा, “हम रूस से यूक्रेन में अन्य मानवीय गलियारों पर सहमत होने का आह्वान करते हैं।”

बता दें कि सोमवार को इन छात्रों को सुरक्षित निकालने की योजना विफल हो गई थी क्योंकि यूक्रेन ने रूस और बेलारूस के लिए मानवीय गलियारे के लिए एक रूसी योजना को खारिज कर दिया था।

इसके तत्काल बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की के साथ सूमी से भारतीय छात्रों की रुकी हुई निकासी प्रक्रिया आरंभ करने के तरीकों पर चर्चा की थी।