व्यापार
अब जियो के निशाने पर डी.टी.एच. ग्राहक: फाइबर-टू-द-होम तकनीक से रिलायंस लुभाएगा ग्राहकों को

दूरसंचार व्यापार में अपना कब्ज़ा जमाने के बाद, अब रिलायंस जियो डिजिटल केबल मार्केट में खुद को स्थापित करने की योजना बना रहा है। इसके लिए रिलायंस ने ग्राहकों को लुभाने के लिए आक्रामक और व्यापक योजना बनाई है। यह वर्तमान डाइरेक्ट-टू-होम (डी.टी.एच.) की जगह फाइबर-टू-द-होम (एफ.टी.टी.एच.) तकनीक लाने की सोच रहा है, बिज़नेस स्टेंडर्ड ने बताया।

रिलायंस जियो अपने दो-तिहाई ग्राहकों को वर्तमान डी.टी.एच. संयोजन जैसे डिश टी.वी., टाटा स्काई, एयरटेल, आदि से दूर कर एफ.टी.टी.एच. तकनीक तक लाने की योजना बना रहा है।

देश में डी.टी.एच. ग्राहकों की संख्या बढ़ती जा रही है और वर्तमान में यह आँकड़ा 6 करोड़ 90 लाख घरों का है।

रिपोर्ट के अनुसार जियो के पास ग्राहकों को लुभाने के लिए कई प्रस्ताव हैं जैसे डी.टी.एच. ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए यह ब्रॉडकास्ट के साथ ब्रॉडबैंड की टू-वे संचार सुविधा भी देगा। इसके अलावा उच्च तकनीक सेवाओं की संख्या भी बढ़कर करीबन 4000 होगी क्योंकि डी.टी.एच. की तरह एफ.टी.टी.एच. में स्पेक्ट्रम सीमा नहीं होती।

एफ.टी.टी.एच. ग्राहकों को वस्तु अंतरजाल (इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स) के माध्यम से सुरक्षा, संरक्षण, घरेलु सेवाएँ और स्वास्थ्य सेवाएँ भी उपलब्ध कराई जाएँगी। जियो के पास एक आक्रामक शुल्क योजना भी है जिसके अंतर्गत इसकी सेवाएँ डी.टी.एच. से सस्ती होंगी।

जो डी.टी.एच. ग्राहक तेज़ इंटरनेट के लिए डोंगल का प्रयोग कर रहे हैं, उनके लिए भी जियो का एफ.टी.टी.एच. एक अच्छा विकल्प सिद्ध होगा।