समाचार
बीएसएनएल देशभर में 4जी नेटवर्क शुरू करने के लिए करीब 1.12 लाख टावर लगाएगा

दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को लोकसभा में कहा कि बीएसएनएल के देश भर में करीब 1.12 लाख टावर लगाने की योजना के साथ जल्द ही स्वदेशी 4जी दूरसंचार नेटवर्क पूरे भारत में शुरू किया जाएगा।

मंत्री ने यह भी कहा कि ट्रेनों के अंदर इंटरनेट कनेक्शन तभी उपलब्ध हो सकता है, जब 5जी नेटवर्क शुरू किया जाएगा क्योंकि 100 किमी प्रति घंटे की गति से चलने वाली ट्रेनों में 4जी तकनीक से संचार बाधित हो जाता है।

उन्होंने प्रश्नकाल के दौरान कहा, “मुझे आपको बताते हुए खुशी हो रही है कि 4जी दूरसंचार नेटवर्क शीघ्र शुरू होने के लिए तैयार है और इसे भारत में भारतीय इंजीनियरों और वैज्ञानिकों द्वारा विकसित किया गया है। 4जी नेटवर्क के हमारे विकास की विश्व भर में सराहना हो रही है। इसमें एक कोर नेटवर्क, संपूर्ण दूरसंचार उपकरणों के साथ रेडियो नेटवर्क है।”

मंत्री ने कहा, “बीएसएनएल 4जी नेटवर्क के लिए पूरे देश में तत्काल 6,000 और फिर 6,000 और और अंत में 1 लाख टावर लगाने का ऑर्डर देने की प्रक्रिया में है। 5जी तकनीक का विकास समानांतर में चल रहा है और कुछ महीनों में हो जाएगा।”

ट्रेनों में 4जी इंटरनेट सेवा की उपलब्धता के बारे में उन्होंने कहा, “यदि कोई ट्रेन 100 किमी से अधिक गति से चल रही है तो हमें 5जी नेटवर्क की आवश्यकता है। 4G नेटवर्क में व्यवधान है। हालाँकि, यह तकनीकी मूल्यांकन का समय है और जैसे-जैसे 5जी तैयार हो रहा है, 5जी भी उपलब्ध होगा।”

उन्होंने कहा कि मोबाइल संचार प्रदान करने के लिए उपयोग किए जाने वाले बीटीएस दूरसंचार सेवा प्रदाताओं (टीएसपी) से संबंधित हैं और उन्हें फाइबर या माइक्रोवेव सहित अन्य माध्यमों से जोड़ने का निर्णय टीएसपी द्वारा उस विशेष स्थान पर आवश्यक नेटवर्क क्षमता सहित विभिन्न तकनीकी-वाणिज्यिक विचारों के आधार पर लिया जाता है।