समाचार
बीएस येडियुरप्पा ने छोड़ा पद पर पर नए चेहरे के चयन तक बने रहेंगे कार्यवाहक मुख्यमंत्री

कर्नाटक के चार बार के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने सोमवार (26 जुलाई) को मुख्यमंत्री पद त्याग दिया। उन्होंने राज्यपाल थावर चंद्र गहलोत को अपना त्याग-पत्र सौंपा, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। हालाँकि, राज्यपाल ने नए मुख्यमंत्री के चयन तक उनको कार्यवाहक मुख्यमंत्री बने रहने को कहा है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, राज्यपाल को त्याग-पत्र सौंपने के उपरांत बीएस येडियुरप्पा ने कहा, “मुझ पर आलाकमान का कोई दबाव नहीं है। यह निर्णय मैंने खुद लिया है, ताकि सरकार के दो वर्ष पूरे होने के पश्चात कोई और मुख्यमंत्री पद संभाल सके।”

उन्होंने आगे कहा, “दो वर्ष कर्नाटक की सेवा करने का मौका देने के लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा का आभारी हूँ। हालाँकि, कोविड-19 की वजह से मुझे गत दो वर्षों में राज्य के लिए बहुत अधिक काम करने का अवसर नहीं मिला। मैं आगामी चुनावों में भाजपा को सत्ता में वापस लाने के लिए काम करूँगा।”

इस बीच, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राज्य के पार्टी प्रभारी अरुण सिंह से चर्चा की। कहा जा रहा है कि जल्द ही मुख्यमंत्री के नए चेहरे के लिए पर्यवेक्षकों की नियुक्ति हो सकती है, जो राज्य में विधायक की बैठक में हिस्सा लेंगे।

बता दें कि बीएस येडियुरप्पा ने रविवार को ही संकेत दे दिए थे कि उन्हें मुख्यमंत्री पद छोड़ना पड़ेगा। उन्होंने कहा था कि सोमवार तक यह निर्णय हो जाएगा।