समाचार
ब्रिटेन का कैरियर स्ट्राइक ग्रुप भारत के साथ अभ्यास के लिए बंगाल की खाड़ी पहुँचा

भारत के साथ बढ़ती रणनीतिक साझेदारी का शक्तिशाली प्रदर्शन करते हुए तीन माह में दूसरी बार ब्रिटेन का कैरियर स्ट्राइक ग्रुप अपने सबसे बड़े युद्धपोत एचएमएस क्वीन एलिज़ाबेथ के नेतृत्व में शुक्रवार (15 अक्टूबर) को बंगाल की खाड़ी पहुँचा।

भारत में ब्रिटिश उच्चायोग ने कहा कि कैरियर स्ट्राइक ग्रुप (सीएसजी) ब्रिटेन और भारत के मध्य अब तक के सबसे अधिक मांग वाले अभ्यास में भाग लेगा, जिसमें तीनों सैन्य सेवाओं के तत्व शामिल होंगे।

एचएमएस क्वीन एलिज़ाबेथ और उसके स्ट्राइक टास्क ग्रुप ने जुलाई में बंगाल की खाड़ी में कई भारतीय युद्धपोतों और पनडुब्बियों के साथ एक बहुत बड़ा युद्धाभ्यास किया था, जिसमें कई जटिल अभ्यास सम्मिलित थे।

उच्चायोग ने एक बयान में कहा, “यह तैनाती हिंद-प्रशांत क्षेत्र में अपने राजनयिक, आर्थिक एवं सुरक्षा आधारित संबंधों को गहरा करने की ब्रिटेन की प्रतिबद्धता का एक शक्तिशाली प्रदर्शन है। मुक्त, खुला, समावेशी एवं समृद्ध हिंद-प्रशांत क्षेत्र सुनिश्चित करने के लिए भारत बेहद अहम है।”

एक कैरियर बैटल ग्रुप कैरियर स्ट्राइक ग्रुप एक ऐसा विशाल नौसैन्य बेड़ा होता है, जिसमें विमान वाहक, बड़ी संख्या में विध्वंसक और जंगी जहाज एवं अन्य जहाज होते हैं।

भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने कहा कि भारत हिंद-प्रशांत क्षेत्र में ब्रिटेन का अनिवार्य साझेदार है और कैरियर स्ट्राइक ग्रुप की यात्रा द्विपक्षीय रक्षा एवं सुरक्षा साझेदारी के गहरा को गहरा करने को प्रदर्शित करती है।

उन्होंने साझी सुरक्षा एवं समृद्धि की दिशा में काम करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के संकल्प का भी उल्लेख किया।