समाचार
ब्रिकवर्क रेटिंग्स ने भारत की जीडीपी वृद्धि का अनुमान 10.5% रहने की अपेक्षा जताई

घरेलू रेटिंग एजेंसी ब्रिकवर्क रेटिंग्स ने सोमवार को भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के लिए अपने विकास अनुमान को संशोधित किया है। एजेंसी के अनुसार, जीडीपी वृद्धि 10 से 10.5 प्रतिशत की दर से होगी।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, क्रेडिट रेटिंग एजेंसी की ओर से जारी एक रिपोर्ट में कहा गया, “हम वित्त वर्ष 2022 के लिए अपने जीडीपी के अनुमान को पूर्व के अनुमानित 9 प्रतिशत वृद्धि से संशोधित करके 10 से 10.5 प्रतिशत कर देते हैं।”

एजेंसी का मानना है कि तीसरी लहर के नहीं आने पर आगे की तिमाहियों में भी वापसी देखने को मिलेगी। तीसरी लहर के नकारात्मक जोखिम भी टीकाकरण में हुई प्रगति के कारण सीमित हैं। हम अपेक्षा करते हैं कि देश की अर्थव्यवस्था बेहतर ही होगी।

आगे कहा गया कि हालाँकि, कच्चे तेल की बढ़ते मूल्यों, खनिज उत्पादों, कच्चे माल की बढ़ती लागत और माल ढुलाई दरों और कोयले की आपूर्ति की कमी से उत्पन्न होने वाले जोखिमों से विकास की गति कम होने की संभावना है।

बता दें कि वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में देश की जीडीपी 2021 प्रतिशत की दर से बढ़ी थी।