समाचार
ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल का अंडमान व निकोबार में किया गया सफल परीक्षण

भारत ने बुधवार को सतह से सतह पर मार करने वाली ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल का सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण पूर्वी हिंद महासागर में अंडमान व निकोबार द्वीप समूह से किया गया।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों ने जानकारी दी कि बढ़ी हुई दूरी की क्षमता की इस मिसाइल ने लक्ष्य पर सटीक निशाना लगाया।

अधिकारियों ने बताया कि ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल के सफल परीक्षण को लेकर एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने शुभकामनाएँ दीं। वे तैयारियों की समीक्षा हेतु केंद्र शासित प्रदेश में उपस्थित थे।

यह परीक्षण एक रखरखाव अभ्यास के दौरान भारतीय वायुसेना द्वारा संचालित बेस से मिसाइल के अनजाने में चल जाने के कुछ सप्ताह बाद हुआ है। उस हादसे में क्रूज़ मिसाइल पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में गिरी थी।

फरवरी में भारत ने अंडमान व निकोबार द्वीप समूह में भूमि-आधारित लॉन्चर से ब्रह्मोस मिसाइल का परीक्षण किया था। इस वर्ष जनवरी में ओडिशा के तट पर एकीकृत परीक्षण रेंज चांदीपुर से मिसाइल का परीक्षण किया गया था।

8 दिसंबर को ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल के एयर-लॉन्च किए गए संस्करण का सु-30एमकेआई लड़ाकू विमान से सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया था। इसके बाद इसे क्रमिक उत्पादन की स्वीकृति मिल गई थी।

इस मिसाइल के एयर-लॉन्च किए गए संस्करण, जिसे ब्रह्मोस-ए भी कहा जाता है, को आईएएफ के सु-30 एमकेआई लड़ाकू विमानों के साथ एकीकृत किया जा रहा है।