समाचार
उत्तराखंड में भाजपा ने पुनः वापसी कर रच दिया इतिहास, 47 सीटों पर जमाया कब्जा

उत्तराखंड की 70 विधानसभा सीटों में से अब तक 67 सीटों के परिणाम आ चुके हैं। इनमें से 47 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की है। कांग्रेस को 17 सीटों पर जीत मिली है, जबकि दो सीटों पर पार्टी अभी आगे चल रही है। वहीं, बसपा ने एक और निर्दलीय ने दो सीटें जीती हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, “उत्तराखंड में भाजपा ने नया इतिहास रच दिया है। पहली बार राज्य में कोई पार्टी लगातार दो बार सत्ता में आई है। एक पहाड़ी राज्य, एक समुद्र तटीय राज्य और एक माँ गंगा का विशेष आशीर्वाद प्राप्त राज्य और एक पूर्वोत्तर में स्थित राज्य। भाजपा को चारों तरफ से आशीर्वाद मिला है।”

राज्य में बड़ी जीत प्राप्त करने के बावजूद भाजपा के वरिष्ठ नेता व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा विधानसभा से हार गए। उन्हें कांग्रेस के भुवन चंद्र कापड़ी ने 6,579 मतों से पराजित कर दिया। ऐसे में अब प्रश्न उठता है कि भाजपा का मुख्यमंत्री चेहरा कौन होगा। सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री पद की दौड़ में धन सिंह रावत, सतपाल महाराज और त्रिवेंद्र सिंह रावत सम्मिलित हैं।

उत्तराखंड की कुल 70 सीटों में बहुमत हासिल करने के लिए 36 सीटों की आवश्यकता होती है। ऐसे में भाजपा ने 47 सीटों पर जीत हासिल की है। कांग्रेस से मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल माने जा रहे हरीश रावत को लालकुआँ सीट से भाजपा प्रत्याशी मोहन सिंह बिष्ट के हाथों पराजय का मुंह देखना पड़ा है।