समाचार
देवी काली पर विवादास्पद टिप्पणी के लिए टीएमसी सांसद मोइत्रा की गिरफ्तारी की मांग

बंगाल भाजपा ने बुधवार को टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा की गिरफ्तारी की मांग की। दरअसल, उन पर कथित तौर पर देवी काली पर विवादास्पद टिप्पणी से हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप है।

महुआ मोइत्रा ने मंगलवार को यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि उन्हें एक व्यक्ति के रूप में देवी काली को मांस खाने और शराब स्वीकार करने वाली देवी के रूप में कल्पना करने का पूरा अधिकार है क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति का देवताओं की पूजा करने का अपना अनूठा तरीका होता है।

दरअसल, टीएमसी सांसद से एक फिल्म के पोस्टर पर उनकी प्रतिक्रिया पूछी गई थी। इसमें एक महिला देवी काली के कपड़े पहने हुए सिगरेट पी रही और दूसरे हाथ में एलजीबीटीक्यू समुदाय का झंडा लिए है।

भाजपा ने इस पर आपत्ति जताई और पूछा कि क्या पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी पार्टी ने हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करने की नीति अपनाई है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा, “टीएमसी सरकार और राज्य पुलिस नुपुर शर्मा के विरुद्ध पुलिस कार्रवाई की मांग में बहुत सक्रिय है लेकिन उन्होंने महुआ मोइत्रा के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की है। भाजपा और टीएमसी नेताओं के लिए अलग-अलग नियम नहीं हो सकते हैं। हम 10 दिन की प्रतीक्षा करेंगे और फिर न्यायालय का रुख करेंगे।

सत्तारूढ़ टीएमसी ने यह कह टिप्पणी से स्वयं को अलग कर लिया कि वह इसका समर्थन नहीं करती है। बाद में टीएमसी सांसद ने स्पष्टीकरण जारी किया।

उन्होंने ट्वीट किया, “आप सभी संघियों को झूठ बोलना बेहतर हिंदू नहीं बना देगा। मैंने कभी किसी फिल्म या पोस्टर का समर्थन नहीं किया या धूम्रपान शब्द का उल्लेख नहीं किया। सुझाव है कि आप तारापीठ में मेरी माँ काली के पास यह देखने के लिए जाएँ कि भोग के रूप में क्या उन्हें चढ़ाया जाता है। जॉय माँ तारा।”