समाचार
“द कश्मीर फाइल्स को कर मुक्त कर देश में विषाक्त माहौल बना रही भाजपा”- शरद पवार

फिल्म द कश्मीर फाइल्स को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार ने भाजपा पर निशाना साधते हुए नई दिल्ली में अल्पसंख्यक विभाग के एक सम्मेलन में कहा, “भाजपा इस फिल्म के माध्यम से कश्मीरी पंडितों के पलायन को लेकर झूठा प्रचार कर देश में विषाक्त माहौल बना रही है।”

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, शरद पवार ने कहा, “ऐसी फिल्मों को अनुमति नहीं दी जानी चाहिए लेकिन सरकार ने इसे कर मुक्त कर दिया है। जिनके पास देश को एक रखने की ज़िम्मेदारी है, वही लोगों को ऐसी फिल्म देखने को कह रहे हैं, ताकि लोगों में गुस्सा पनपे। ऐसी फिल्मों को स्क्रीनिंग के लिए स्वीकृति नहीं दी जानी चाहिए।”

उन्होंने कहा, “यह सच है कि कश्मीरी पंडितों को घाटी छोड़नी पड़ी थी लेकिन मुसलमानों को भी उस तरह से निशाना बनाया गया था। पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूह कश्मीरी पंडितों और मुसलमानों पर हमले के लिए ज़िम्मेदार हैं।”

एनसीपी प्रमुख ने कहा, “यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार असलियत में कश्मीरी पंडितों की चिंता करती है तो उसे उनके पुनर्वास के लिए हर संभव प्रयास करने चाहिए। अल्पसंख्यकों को लेकर उनके मन में गुस्सा नहीं भड़काना चाहिए।”

शरद पवार ने देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को घसीटने पर भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, “कश्मीरी पंडितों को तब घाटी छोड़नी पड़ी थी, जब विश्वनाथ प्रताप सिंह प्रधानमंत्री थे। उस समय वीपी सिंह की सरकार का समर्थन भाजपा कर रही थी। उस समय जगमोहन जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल थे। बाद में उन्होंने भाजपा उम्मीदवार के तौर पर दिल्ली से लोकसभा चुनाव लड़ा था। उन्होंने ही कश्मीरी पंडितों को घाटी से निकलने में सहायता की थी।”