समाचार
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के पूर्णिया में ग्रीनफील्ड इथेनॉल संयंत्र का उद्घाटन किया

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को राज्य के पूर्णिया में एक ग्रीनफील्ड अनाज आधारित इथेनॉल संयंत्र का उद्घाटन किया।

105 करोड़ रुपये में निर्मित यह परियोजना बिहार के एथेनॉल उत्पादन की दिशा में पुन: सक्रिय प्रयास का एक भाग है।

देश में ईंधन की मांग को पूरा करने के लिए गन्ना, मक्का और चावल का उपयोग करने की योजना है।

यह शून्य-तरल निर्वहन संयंत्र होगा और लगभग 130 टन चावल की भूसी के साथ 145-150 टन मक्का या चावल सीधे स्थानीय किसानों से खरीदा जाएगा।

कारखाने द्वारा उप-उत्पाद के रूप में 27 टन डीडीजीएस उत्पादित किया जाएगा। इसे पशु आहार के उद्देश्य से बेचा जाएगा और इस प्रकार बिहार में दुग्ध और मुर्गी पालन करने वाले किसानों दोनों की सहायता होगी।

तेल विपणन कंपनियों (ओएमसी) के साथ हस्ताक्षरित एक दशक लंबे खरीद समझौते के अनुसार, इस संयंत्र से इथेनॉल विशेष रूप से इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी), हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (एचपीसीएल) और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) को बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में बेचा जाएगा।

दि इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज़ हुसैन ने बताया कि वे राज्य के मक्का उत्पादन का लाभकारी उपयोग करने पर विचार कर रहे हैं।