समाचार
तजिंदर पाल बग्गा को उच्च न्यायालय से राहत, 6 जुलाई तक बढ़ाई गिरफ्तारी पर रोक

भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा को मंगलवार (10 मई) को पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायाालय ने बड़ी राहत दी। न्यायालय ने भाजपा दिल्ली के प्रवक्ता पर पंजाब पुलिस द्वारा उनके विरुद्ध दर्ज मामले में 6 जुलाई तक गिरफ्तारी पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी।

न्यायाधीश अनूप चितकारा ने पंजाब पुलिस को सुनवाई की अगली तिथि तक भाजपा नेता से उनके आवास पर एक-एक घंटे के लिए दो बार पूछताछ करने की अनुमति दी है।

बार एंड बेंच की रिपोर्ट के अनुसार, एकल-न्यायाधीश ने आदेश दिया कि पूछताछ एक आईपीएस अधिकारी की उपस्थिति में होनी चाहिए।

साथ ही पुलिस को निर्देश दिया गया कि वह इस मामले में 6 जुलाई तक चालान ना दाखिल करें, जब तक मामले की अगली सुनवाई नहीं हो जाती है।

इससे पूर्व, 7 मई को मोहाली की एक न्यायालय ने गत माह दर्ज एक मामले में बग्गा के विरुद्ध गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया था।

मोहाली न्यायालय द्वारा गत माह पंजाब पुलिस द्वारा अपने विरुद्ध दर्ज एक मामले के संबंध में गिरफ्तारी वॉरंट जारी होने के कुछ घंटों बाद बग्गा ने इसे चुनौती देते हुए उच्च न्यायालय का रुख किया था।

पंजाब पुलिस ने भड़काऊ बयान देने, दुश्मनी को बढ़ावा देने और आपराधिक धमकी देने के आरोप में तजिंदर पाल सिंह बग्गा के विरुद्ध मामला दर्ज किया था। मोहाली निवासी आप नेता सनी अहलूवालिया की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया था। बग्गा को पंजाब पुलिस ने 6 मई को उनके दिल्ली स्थित घर से गिरफ्तार किया था।