समाचार
भारत बायोटेक ने बच्चों की कोवैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण का परीक्षण किया पूरा

भारत बायोटेक ने मंगलवार (21 सितंबर) को कहा कि 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों की कोविड-19 वैक्सीन कोवैक्सीन के दूसरे व तीसरे चरण का परीक्षण पूर्ण हो गया है। अगले सप्ताह तक भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) को आँकड़े सौंपने की अपेक्षा है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक कृष्ण एल्ला ने बताया, “बच्चों की कोवैक्सीन के दूसरे व तीसरे चरण का परीक्षण पूरा हो गया है। इसमें स्वयंसेवकों की संख्या लगभग 1,000 है।”

उन्होंने कहा, “कोवैक्सीन का उत्पादन अक्टूबर में 5.5 करोड़ खुराक तक पहुँच जाएगा। वहीं, कंपनी के कोविड-19 रोधी इंट्रानैज़ल टीके (नाक से दिया जाने वाला टीका) के दूसरे चरण का परीक्षण अगले माह तक पूरे होने की अपेक्षा है। यह नाक में ही प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया दे सकता है, जो कोविड संक्रमण का प्रवेश द्वार है।”

एल्ला ने कहा, “इंट्रानैज़ल टीके का परीक्षण तीन समूहों पर किया जा रहा। इनमें से एक समूह को पहली खुराक के तौर पर कोवैक्सीन टीका दिया गया और दूसरी खुराक के तौर पर नाक से टीका दिया गया। तीसरे समूह को इंट्रानैज़ल और कोवैक्सीन का टीका 28 दिन के अंतराल पर दिया गया है। यह परीक्षण 650 स्वयंसेवकों पर किया जाएगा।”