समाचार
बेंगलुरु-मैसुरु एक्सप्रेसवे प्रगति पर, कर्नाटक के पर्यटन को देगा बढ़ावा- नितिन गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी दी कि निर्माणाधीन बेंगलुरु-मैसुरु एक्सप्रेसवे का बेंगलुरु निदाघट्टा खंड अच्छी गति के साथ बन रहा है।

बेंगलुरु-मैसुरु एक्सप्रेसवे में एनएच-275 को छह लेन बनाने के साथ दोनों तरफ दो-लेन सर्विस रोड भी हैं, जिससे यह 10-लेन का हाईवे बन जाता है। इसमें ब्राउनफील्ड और ग्रीनफील्ड दोनों खंड सम्मिलित हैं।

8,000 करोड़ रुपये से अधिक के इस एक्सप्रेसवे के वर्ष के अंत तक पूरा होने और कर्नाटक के प्रमुख शहरों के मध्य यात्रा के समय को वर्तमान के तीन घंटों से 90 मिनट कम करने की संभावना है।

एक्सप्रेसवे परियोजना को दो पैकेजों के अंतर्गत विकसित किया जा रहा है। पहला बेंगलुरु से मद्दुर तालुक के निदाघट्टा तक लगभग 56 किलोमीटर तक चलता है। दूसरा पैकेज 61 किलोमीटर लंबा है, जो निदाघट्टा को मैसुरु से जोड़ता है।

गडकरी ने एक के बाद एक ट्वीट कर कहा, “21वीं सदी का नया भारत विश्व में सबसे अच्छी बुनियादी सुविधाओं के निर्माण पर केंद्रित है। इसे ध्यान में रखते हुए एनएच-275 के बेंगलुरु निदाघट्टा खंड को छह लेन करने की परियोजना बहुत सारे वादों के साथ आगे बढ़ रही है।”

उन्होंने कहा, “बेंगलुरु से निदाघट्टा खंड पर्यटन एवं अर्थव्यवस्था के लिए एक महत्वपूर्ण विस्तार है। यह बिदादी, चन्नापटाना और रामनगर के शहरों से होकर गुज़रता है, जहाँ एशिया में रेशम कोकून का सबसे बड़ा बाजार है और देश के एकमात्र गिद्ध अभयारण्य तक यह पहुँच प्रदान करता है। यह श्रीरंगपटना, मैसुरु, ऊटी, केरल और कूर्ग को जोड़ने वाला है।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “परियोजना पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसमें सड़क सुरक्षा में सुधार किया गया है, जिसमें ग्रेड जंक्शनों को खत्म करना और दुर्घटनाओं को कम करने हेतु वाहनों को अंडरपास और ओवरपास दिए जा रहे हैं।”