समाचार
बांग्लादेश- दुर्गा पूजा मंडप में कुरान रखने वाला व्यक्ति निकला इकबाल हुसैन, हुई पहचान

बांग्लादेश पुलिस ने कोमिला शहर के नानुआ दिघिर पर पूजा मंडप में कुरान रखने वाले व्यक्ति की पहचान कर ली है, जिसकी वजह से पूरे देश में दुर्गा पूजा स्थलों और हिंदू मंदिरों को निशाना बनाकर हिंसा भड़काई गई थी।

द ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, युवक की पहचान कोमिला के सेकेंड मुरादपुर-लस्कारपुकुर क्षेत्र के निवासी नूर अहमद आलम के पुत्र इकबाल हुसैन (30) के रूप में हुई है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हुसैन की पहचान अपराधी के रूप में हुई है।

सीसीटीवी फुटेज में इकबाल को एक मस्जिद से कुरान लेकर पूजा स्थल की ओर जाते हुए देखा जा सकता है। बाद में उसे हाथ में हिंदू भगवान् हनुमान का गदा लेकर चलते हुए देखा गया।

कोमिला शहर के पुलिस अधीक्षक फारूक अहमे ने कहा, “कुमिला शहर में नानुआर दिघी के तट पर पूजा मंडप में पवित्र कुरान रखते हुए इकबाल हुसैन नाम के एक व्यक्ति की पहचान मुख्य संदिग्ध के रूप में की गई है।”

पुलिस ने मामले में इकबाल के चार साथियों समेत 41 लोगों को गिरफ्तार किया है। इकबाल अब भी फरार है।

बांग्लादेश जमात-ए-इस्लामी और उनके सहयोगियों ने दावा किया था कि हिंदुओं ने कुरान को अपमानजनक तरीके से भगवान हनुमान की गोद में रखकर या जैसा कि झूठी खबरों में दावा है कि देवी दुर्गा के चरणों में रखकर अपवित्र किया गया था। झूठी खबरें फैलने के बाद हिंसक मुस्लिम समूहों ने कई पूजा स्थलों और हिंदू घरों पर हमला किया था।