समाचार
बांग्लादेश बाढ़ आपदा में 60 लाख से अधिक लोग फँसे, हवाई अड्डे व विद्युत संयंत्र बंद

बांग्लादेश में हो रही लगातार वर्षा और बढ़ते जलस्तर की वजह से कम से कम 60 लाख लोग फँसे हुए हैं, जिसकी वजह से अधिकारियों को बचाव और राहत कार्यों में सहायता के लिए सेना बुलानी पड़ी।

अधिकारियों का अनुमान है कि लगभग 60 लाख लोग अपने जलमग्न घरों में फँसे हैं या उन्होंने कहीं और अस्थायी शरण ली हुई है क्योंकि पूर्वोत्तर और उत्तरी क्षेत्रों की नदियों का जल स्तर लगातार बढ़ रहा है।

बाढ़ पूर्वानुमान और चेतावनी केंद्र (एफएफडब्ल्यूसी) के एक प्रवक्ता ने जानकारी दी, “देश की चार प्रमुख नदी घाटियों में से दो में पानी अब खतरे के निशान से बहुत ऊपर चला गया है। स्थिति लगभग 2004 के बाढ़ जैसी ही बिगड़ती हुई लग रही है।

सुनामगंज में बचाव नौकाओं के आने तक कई लोगों को शुरू में अपनी छतों पर शरण लेनी पड़ी थी। मरने वालों की संख्या पर कोई आधिकारिक डाटा उपलब्ध नहीं था लेकिन अनौपचारिक रिपोर्टों से पता चलता है कि देश में आई आपदा से कम से कम 19 लोग मारे गए हैं।

एफएफडब्ल्यूसी ने मेघालय और बांग्लादेश के ऊँचाई वाले क्षेत्रों में लगातार हो रही वर्षा को इस बाढ़ का कारण बताया है।

बाढ़ का पानी कई विद्युत घरों में भर गया है, जिसके कारण प्रशासन को इन विद्युत घरों को बंद करना पड़ा है। इसके कारण इंटरनेट और मोबाइल फोन संवाद बंद हो गई हैं।