समाचार
जीएसटी संग्रह जनवरी-2022 में रिकॉर्ड 1.40 लाख करोड़ से भी अधिक- लोकसभा में केंद्र

संसद को सोमवार (7 फरवरी) को जानकारी दी गई कि वित्त वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही में औसत मासिक सकल वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह 1.30 लाख करोड़ रुपये रहा है। वहीं, पहली और दूसरी तिमाही में औसत मासिक संग्रह क्रमशः 1.10 लाख करोड़ रुपये और 1.15 लाख करोड़ रुपये रहा है।

लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि जनवरी 2022 के माह में 1,40,986 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड जीएसटी संग्रह दर्ज किया गया और यह संग्रह जीएसटी लागू होने के बाद से सबसे अधिक है।

आगे की जानकारी देते हुए मंत्री ने बताया कि अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर 2021 के महीनों में कुल वस्तु एवं सेवा कर संग्रह क्रमशः 1,30,127 करोड़, 1,31,526 करोड़ और 1,29,780 करोड़ रहा है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “उपरोक्त तालिका से यह देखा जा सकता कि अक्टूबर और नवंबर 2021 के महीनों की तुलना में दिसंबर 2021 के माह में वस्तु एवं सेवा कर संग्रह में मामूली गिरावट आई थी लेकिन इसने जनवरी 2022 में 1,40,986 करोड़ रुपये के उच्चतम संग्रह को छू लिया।”

उन्होंने यह भी कहा, “चूँकि सरकार कर राजस्व संग्रह बढ़ाने के लिए कदम उठा रही है। इसमें अन्य बातों के अतिरिक्त कर अनुपालन में सुधार के लिए जीएसटी दर युक्तिकरण, ई-चालान प्रणाली, अनिवार्य ई-फाइलिंग और करों का ई-भुगतान, विलंबित भुगतान के लिए जुर्माना आदि सम्मिलित हैं। अपेक्षा है कि आने वाले महीनों में भी जीएसटी संग्रह में तेज़ी बनी रह सकती है।”