समाचार
ओला ई स्कूटर संयंत्र विश्व में सबसे बड़ा सर्व-महिला कर्मी कारखाना होगा- भाविश अग्रवाल

ओला का आगामी इलेक्ट्रिक स्कूटर संयंत्र पूरी तरह से महिलाओं द्वारा संचालित होगा और पूर्ण पैमाने पर 10,000 से अधिक महिलाओं को रोजगार के अवसर देगा। इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस विकास को कंपनी के सीईओ भाविश अग्रवाल द्वारा सार्वजनिक किया गया।

उन्होंने ट्वीट किया, “आत्मनिर्भर भारत को आत्मानिर्भर महिलाओं की आवश्यकता है। मुझे यह साझा करते हुए गर्व हो रहा है कि ओला फ्यूचर फैक्ट्री पूरी तरह से महिलाओं द्वारा संचालित होगी। इसमें 10,000 से अधिक महिलाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। सिर्फ महिलाओं द्वारा संचालित यह विश्व का सबसे बड़ा संयंत्र होगा। हमारे पहले समूह से मिलें और उनके जुनून से प्रेरणा लें।”

उन्होंने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि यह दुनिया की सबसे बड़ी सर्व-महिला कर्मी संयंत्र होगा और वैश्विक स्तर पर एकमात्र सर्व-महिला कर्मी वाहन विनिर्माण सुविधा होगी।

भाविश अग्रवाल ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि कंपनी द्वारा मुख्य निर्माण कौशल में महिला श्रमिकों को प्रशिक्षित करने और उनका कौशल बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण निवेश किया गया है। वे ओला फ्यूचर फैक्ट्री में निर्मित प्रत्येक वाहन के पूरे उत्पादन के लिए ज़िम्मेदार होंगी।

उन्होंने कहा, “महिलाओं को आर्थिक अवसरों के साथ सक्षम करने से ना केवल उनके जीवन में बल्कि उनके परिवारों और पूरे समुदाय में सुधार होता है। वास्तव में अध्ययनों से पता चलता है कि श्रम कार्यबल में महिलाओं को समानता प्रदान करने से भारत की जीडीपी में 27 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है।”