समाचार
जीएसटी संग्रह पहुँचा 1.44 लाख करोड़ रुपये पर, गत वर्ष की अपेक्षा 56 प्रतिशत अधिक

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा कि जून में जीएसटी राजस्व बढ़कर 1.44 लाख करोड़ रुपये हो गया, जो गत वर्ष के इसी माह की अपेक्षा 56 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करता है।

मई में वस्तु एवं सेवा कर राजस्व लगभग 1.41 लाख करोड़ रुपये रहा था।

यह केवल पाँचवीं बार है, जब मासिक जीएसटी संग्रह इसकी स्थापना के बाद से 1.40 लाख करोड़ रुपये का आँकड़ा पार करने में सफल रहा है और मार्च 2022 से लगातार चौथा महीना है।

इससे पूर्व, अप्रैल में संग्रह 1.68 लाख करोड़ रुपये तक पहुँच गया था, जो 2017 में अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था की स्थापना के बाद से अब तक का सबसे अधिक आँकड़ा है।

निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा कि जून माह के लिए 1.40 लाख करोड़ रुपये की निचली रेखा है।

बिज़नेस टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने नई दिल्ली में वस्तु एवं सेवा कर दिवस के अवसर पर कहा, “हमारा मासिक जीएसटी संग्रह इससे नीचे नहीं जा रहा है।”

यह विकास तब आता है, जब भारत 2017 में लाई गई नई कर व्यवस्था के कार्यान्वयन को चिह्नित करने के लिए 1 जुलाई को जीएसटी दिवस की अपनी पाँचवीं वर्षगाँठ मना रहा है।