समाचार
“जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव परिसीमन प्रक्रिया पूरी होने के बाद होंगे”- अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में वर्तमान परिसीमन प्रक्रिया पूरी होने के बाद विधानसभा चुनाव होंगे और केंद्र शासित प्रदेश में स्थिति सामान्य होने के बाद राज्य का दर्जा बहाल कर दिया जाएगा।

भारत का पहला जिला सुशासन सूचकांक जारी करते हुए उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता है और केंद्र शासित प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए बहुआयामी प्रयास किए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा, “कुछ लोगों ने बहुत कुछ कहा है लेकिन मैं आपको बताना चाहता हूँ कि मैंने संसद में आश्वासन दिया था कि जम्मू-कश्मीर में राज्य का दर्जा बहाल किया जाएगा। एक बार स्थिति सामान्य हो जाएगी तो जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल कर दिया जाएगा।”

अमित शाह ने कहा कि कुछ लोग घाटी के लोगों के मन में भ्रम पैदा करना चाहते हैं। मैं सभी से अनुरोध करना चाहता हूँ कि उनके झांसे में न आएँ। जम्मू-कश्मीर का विकास लोकतंत्र से ही हो सकता है। लोग खुश रह सकते हैं और युवाओं को भी लोकतंत्र से रोजगार मिल सकता है। हालाँकि, लोकतंत्र कायम रखने के लिए जम्मू-कश्मीर में शांति आवश्यक है।

उन्होंने कहा, “कुछ लोग अपने संकीर्ण राजनीतिक हितों के लिए झूठ फैला रहे हैं। मैं युवाओं से अपील करना चाहता हूँ कि वे निहित स्वार्थों के बयानों से न भड़कें। वे उनसे प्रश्न पूछें, जो लोग कह रहे हैं कि घाटी की भूमि हड़प ली जाएगी, उनसे पूछा जाना चाहिए कि अब तक किसकी भूमि छीनी गई है। इस तरह के झूठ फैलाकर वे जम्मू-कश्मीर के विकास में बाधा डालने का प्रयास कर रहे हैं।”

गृह मंत्री ने कहा, “केंद्र शासित प्रदेश बिजली, एलपीजी गैस कनेक्शन, शौचालय, 100 प्रतिशत टीकाकरण, ऑक्सीजन आपूर्ति, ऑक्सीजन संयंत्र की व्यवस्था जैसी केंद्र की विकास योजनाओं को लागू करने में पाँचवें स्थान पर है। “