समाचार
मोदी की आलोचना पर असम पुलिस ने कांग्रेस नेता जिग्नेश मेवाणी को गिरफ्तार किया

असम पुलिस की एक टीम ने गुजरात के कांग्रेस विधायक जिग्नेश मेवाणी को एक आपत्तिजनक ट्वीट करने पर गिरफ्तार किया, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की थी।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, वडगाम विधानसभा सीट से विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी को असम पुलिस पालनपुर से गिरफ्तार करके पहले अहमदाबाद ले गई। फिर सुबह-सुबह करीब 4.30 बजे हवाई जाहज से असम ले आई।

जानकारी के मुताबिक, जिग्नेश मेवाणी पालनपुर के सर्किट हाउस में रुके थे। देर रात 11.30 बजे असम पुलिस की एक टीम पहुँची और गिरफ्तार कर लिया। यह जानकारी मेवाणी के समर्थकों ने दी।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, इस पर राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “मोदी जी आप राज्य की मशीनरी का दुरुपयोग कर असहमतियों को दबाने का प्रयास कर सकते हैं लेकिन आप सत्य को कैद नहीं कर सकते हैं।” अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने डरो मत और सत्यमेव जयते हैशटैग भी दिया।

असम के कोकराझार जिले के भबनीपुर निवासी अनूप कुमार डे ने मेवाणी के विरुद्ध धारा 120बी (आपराधिक साजिश रचने), धारा 153ए (दो समुदायों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देने), 295ए, धारा 504 (शांति भंग करने के इच्छा से जानबूझकर अपमान करने) और आईटी की धाराओं के तहत मामला दर्ज करवाया।

बता दें कि मेवाणी ने 18 अप्रैल को ट्वीट किया था, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो गोडसे को भगवान मानते हैं, वह गुजरात में हुई सांप्रदायिक झड़पों के लिए शांति और सद्भाव की अपील करें।”