समाचार
अश्विनी वैष्णव ने आईआईटी मद्रास में की 5जी कॉल, देश में एंड टु एंड नेटवर्क विकसित

आईआईटी मद्रास में स्थापित एक परीक्षण नेटवर्क पर केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने गुरुवार (18 मई) को स्वदेशी रूप से विकसित दूरसंचार उपकरणों का उपयोग करके पहली 5जी कॉल की।

संपूर्ण एंड-टु-एंड 5जी नेटवर्क को देश में डिजाइन और विकसित किया गया है।

इस विकास के कुछ दिनों पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश के पहले 5जी टेस्ट-बेड का उद्घाटन किया था। इसे आईआईटी मद्रास के नेतृत्व में आठ प्रमुख भारतीय संस्थानों द्वारा एक सहयोगी परियोजना के रूप में विकसित किया गया था, ताकि स्टार्टअप व उद्योग कंपनियों को स्थानीय स्तर पर अपने उत्पादों का परीक्षण व सत्यापन करने और विदेशी सुविधाओं पर निर्भरता कम करने में सक्षम बनाया जा सके।

अश्विनी वैष्णव ने एक ट्वीट में कहा, “आत्मनिर्भर 5जी। आईआईटी मद्रास में 5जी कॉल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। संपूर्ण एंड टु एंड नेटवर्क भारत में डिज़ाइन और विकसित किया गया है।”

एनएनआई ने केंद्रीय मंत्री के हवाले से कहा, “भारत में विकसित 4जी और 5जी नेटवर्क प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को साकार करने का एक प्रयास है। यहाँ संपूर्ण एंड-टु-एंड नेटवर्क भारत में डिजाइन और विकसित किया गया है।”

उन्होंने आगे कहा, “हमें आईआईटी मद्रास टीम पर गर्व है, जिसने 5जी परीक्षण पैड विकसित किया, जो संपूर्ण 5जी विकास पारिस्थितिकी तंत्र और हाइपरलूप पहल के लिए बड़े अवसर प्रदान करेगा।”