समाचार
अशरफ गनी ने पैस लेकर भागने के आरोपों को बताया झूठा, “बस एक जोड़ी कपड़े लिए”

तालिबान के कारण युद्धग्रस्त अफगानिस्तान को छोड़कर भाग निकले पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी ने रुपये लेकर अपने देश से भागने के सारे आरोपों का खंडन किया है।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, अशरफ गनी ने फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए सफाई दी कि मैं सिर्फ एक जोड़ी कपड़े में अफगानिस्तान से निकला हूँ।

अपने वीडियो संदेश में उन्होंने कहा, “मेरी मंशा देश से भागने और उसे छोड़ने की नहीं थी। मैं हिंसा रोकने के लिए संयुक्त अरब अमीरात में हूँ। मैं अपने देश आने के रास्ते ढूँढ रहा हूँ। मैं अफगानी संप्रभुता और सही मायने में इस्लामिक मूल्यों को बहाल करने की लड़ाई लड़ता रहूँगा।”

अफगानिस्तान छोड़ने के बाद अशरफ गनी ने संयुक्त अरब अमीरात में शरण ली है। इसकी पुष्टि यूएई के विदेश मंत्रालय ने की। उन्होंने बताया कि गनी और उनके परिवार को मानवीय आधार पर शरण दी गई है।

उधर, अफगानिस्तान के रक्षा मंत्री बिस्मिल्ला खान ने ट्वीट कर इंटरपोल से मांग की कि अश्विनी को गिरफ्तार किया जाए। उन्होंने अपनी मातृभूमि को बेचकर भागने का काम किया है। अफगानी नेता को इस तरह भागता देख कर हम क्रोधित हैं।