घोषणाएं
आपकी कन्या आपके घर की ‘लक्ष्मी’ भी- सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना की ब्याज दर में वृद्धि

अक्टूबर 2018 में सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना पर ब्याज दर बढ़ाकर 8.5 प्रतिशत कर दी है, जो वार्षिक चक्रवृद्धि की दर है, मिंट ने रिपोर्ट किया। जोखिम को समायोजित कर यह इसे देश का सबसे आकर्षक निवेश विकल्प बनाती है। आम आदमियों को लिए यह सर्वश्रेष्ठ बचत स्कीम है क्योंकि वरिष्ठ जन बचत स्कीम जिसकी ब्याज दर 8.7 प्रतिशत है, उसका लाभ केवल 60 वर्ष की आयु से अधिक के वृद्धजन ही उठा सकते हैं।

यह भी ध्यान देने योग्य बात है कि सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करने के लिए यह सर्वोत्तम समय है क्योंकि महंगाई दर 3.7 प्रतिशत की दर पर कम बनी हुई है। इस प्रकार आय को इस निवेश से बहुत लाभ मिलेगा, रिपोर्ट में बताया गया।

2015 में प्रारंभ की गई सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बालिका के अभिभावकों किसी डाकघर अथवा किसी भी बैंक की शाखा में कन्या के नाम पर एक खाता खुलवा सकते हैं। एक खाता केवल एक बालिका के लिए प्रयोग किया जा सकता है। खाता खोलने के लिए 250 रुपए की न्यूनतम राशि डालनी होती है और साल भर में डेढ़ लाख रुपए की अधिकतम राशि जमा की जा सकती है। अधिक जानकारी के लिए देखें

यह योजना एन.डी.ए. सरकार के ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान के अधीन है। यह एक कन्या के परिवारजनों को उसकी शिक्षा व विवाह के लिए पैसों की बचत करने में सहायता करती है।