घोषणाएं
मध्यप्रदेश का भविष्य: उद्यमों को बढ़ावा देने के लिए राज्य स्टार्टअप कॉन्क्लेव की करने जा रहा है मेजबानी
मध्यप्रदेश स्टार्टअप कॉन्क्लेव

29 सितम्बर 2018 को, राज्य भर में उद्यमिता के अवसरों को बढ़ावा देने के अपने प्रयास में मध्यप्रदेश प्रदेश सरकार एक स्टार्टअप कॉन्क्लेव की मेजबानी करेगी। कॉन्क्लेव में ध्यान इस बात पर केन्द्रित होगा कि उद्यमियों को विशेषज्ञों, नेताओं, निवेशकों और इंडस्ट्री के अन्य दिग्गजों के साथ जोड़ा जाए।

भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कारपोरेशन सेंटर के उद्गम केंद्र बी-नेस्ट में आयोजित होने वाला यह कॉन्क्लेव स्टार्टअप्स, नवप्रवर्तकों और राज्य के आगामी उद्योगों को एक बड़ा प्रोत्साहन देगा।

अलग-अलग सत्रों में विभाजित इस कॉन्क्लेव की अध्यक्षता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की जाएगी एवं इसमें विभिन्न उद्योगों के कई सारे अग्रणी उद्यमियों के साथ-साथ अमिताभ कान्त (नीति आयोग के सीईओ) जैसे गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद रहेंगे।

मुख्यमंत्री राज्य के स्टार्टअप उद्यमियों के साथ बातचीत करेंगे। राज्य के अधिकांश आगामी उद्यमों के लिए यह कॉन्क्लेव निवेशकों को खोजने में मदद करेगा और लोगों की एक बड़ी संख्या तक पहुँचने के लिए विकास का मार्ग दिखलायेगा।

राज्य में छात्रों को प्रोत्साहित करने और शिक्षण संस्थानों में उद्यमिता के प्रोत्साहन के लिए स्कूलों और कॉलेजों में इस कॉन्क्लेव का सीधा प्रसारण किया जायेगा। सीधे प्रसारण के माध्यम से स्कूल और कॉलेजों में लगभग 1,50,000 से अधिक छात्रों तक इस कार्यक्रम को पहुँचाया जायेगा।

हाल के वर्षों में, राज्य में हुए निवेश ने लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। इसके अलावा, 2016 में मध्यप्रदेश स्टार्टअप और इनक्यूबेशन पॉलिसी की शुरुआत के बाद, राज्य ने योग्य स्टार्टअप्स में निवेश के लिए एक निधि में 100 करोड़ रुपये का निवेश किया था।

स्टार्टअप इंडिया के विचार को ध्यान में रखते हुए आयोजित होने वाला यह कॉन्क्लेव मध्यप्रदेश के विकास के लिए अनिवार्य है क्योंकि यह राज्य उद्योगों में नवाचार के लिए प्रयासरत है।