समाचार
बाढ़ के कारण बाधित हुआ जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग, चार दिन बाद यातायात पुनः बहाल

भारी बारिश की वजह से कई जगहों पर आई बाढ़ में सड़कों के बह जाने के बाद उसके सही किए जाने का कार्य लगातार जारी है। इस बीच, चार दिनों से फँसे सैकड़ों वाहनों को शुक्रवार रात कश्मीर की ओर जाने दिया गया क्योंकि जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक रास्ता बहाल कर दिया गया।

रामबन और उधमपुर जिलों में 33 स्थानों पर भारी बारिश की वजह से भूस्खलन और पत्थर गिरने के कारण 270 किलोमीटर लंबा राजमार्ग मंगलवार से अवरुद्ध था।

राष्ट्रीय राजमार्ग के एसएसपी शब्बीर अहमद मलिक ने शुक्रवार को बताया, “राजमार्ग को यातायात के लिए फिर से खोला गया है। 20 जून को पंथियाल में पत्थर गिरने के कारण हाईवे बंद कर दिया गया था इसलिए यातायात बाधित था।”

मलिक ने कहा कि जहाँ सभी नाकेबंदी हटा दी गई और यातायात साफ कर दिया गया है, वहीं 21 जून को समरोली के पास देवाल पुल पर सड़क के पैच के बाढ़ में बह जाने के बाद समस्या को दूर करने में साढ़े तीन दिन लग गए।

उन्होंने कहा कि शनिवार को श्रीनगर से जम्मू के लिए यातायात की अनुमति होगी। भारी बारिश के कारण आई अचानक बाढ़ में 150 फुट लंबा सड़क मार्ग और राजमार्ग पर एक निर्माणाधीन पुल भी बह गया।

अधिकारियों ने कहा कि हालाँकि, आज दोपहर को पहाड़ी की चोटी पर एक ताजा भूस्खलन हुआ, जिससे समरोली के पास देवाल पुल पर बहाली का काम रुक गया।

सड़क की मरम्मत एवं निकासी कार्यों की व्यक्तिगत रूप से निगरानी कर रहे रामबन के उपायुक्त मुसरत इस्लाम ने कहा कि जिला प्रशासन ने फँसे हुए यात्रियों के लिए रात के ठहरने, भोजन और अन्य सुविधाओं की व्यवस्था की है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “भारी बारिश के चलते राजमार्ग पर निर्माणाधीन पीराह पुल का शटर बह गया।”