समाचार
प्रधानमंत्री मोदी के कल्पित प्रयोग अंतर-राष्ट्रीय सौर गठबंधन का अमेरिका भी बना हिस्सा

विश्व को सौर ऊर्जा की कम दरों पर उपलब्धता के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रांसिस ओलांद ने 2015 में पेरिस में हुए जलवायु शिखर सम्मेलन में अंतर-राष्ट्रीय सौर गठबंधन की शुरुआत की थी। अब इसमें बुधवार (10 नवंबर) को अमेरिका भी सम्मिलित हो गया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका के भी सम्मिलित होने के उपरांत इसके कुल सदस्यों की संख्या अब 101 हो गई है। ग्लासगो में जलवायु परिवर्तन पर चर्चा के लिए आयोजित कॉप26 के दौरान अमेरिका ने इस संगठन में सम्मिलित होने की घोषणा की।

इस दौरान अमेरिकी प्रतिनिधि जॉन कैरी और भारत के पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव उपस्थित थे। भूपेंद्र यादव ने कहा, “मुझे प्रसन्नता है कि प्रधानमंत्री मोदी की ओर से आरंभ किए गए कल्पित प्रयोग का अब यूएस भी औपचारिक तौर पर भाग बन गया है।”

उन्होंने कहा कि इससे अंतर-राष्ट्रीय सौर गठबंधन को विश्व भर में मजबूती मिलेगी और विश्व को वैकल्पिक ऊर्जा की दिशा में बढ़ने में सहायता मिलेगी।

बता दें कि गठबंधन के अंतर्गत विश्व भर में सौर ऊर्जा के उत्पादन में बढ़ोतरी हेतु 2030 तक 1,000 अरब अमेरिकी डॉलर के निवेश का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।