समाचार
इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने प्रधानमंत्री से चुनाव स्थगित करने पर विचार का आग्रह किया

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने गुरुवार को केंद्र सरकार से कोविड-19 के नए प्रकार ओमिक्रॉन की वजह से तीसरी लहर की आशंका के मद्देनज़र चुनावी रैलियों को रोकने का आग्रह किया।

न्यायमूर्ति शेखर कुमार यादव की खंडपीठ ने एक मामले में एक याचिकाकर्ता की जमानत अर्जी स्वीकार करते हुए कहा कि ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है और तीसरी लहर आने की आशंका है।

इस भयावह महामारी को देखते हुए चीन, नीदरलैंड और जर्मनी जैसे देशों ने पूर्ण या आंशिक तालाबंदी लागू कर दी है।

न्यायालय ने चुनाव आयोग से ऐसी रैलियों, सभाओं को तत्काल रोकने और राजनीतिक दलों को टीवी चैनलों व समाचार पत्रों के माध्यम से प्रचार करने का आदेश देने का अनुरोध किया।

कोविड-19 टीकाकरण अभियान के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए न्यायालय ने उनसे महामारी की स्थिति को देख कड़े कदम उठाते हुए रैलियों, सभाओं को रोकने और आगामी राज्य चुनावों को स्थगित करने पर विचार करने का अनुरोध किया।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने संजय यादव नाम के व्यक्ति की जमानत याचिका पर स्वीकार करते हुए यह टिप्पणी की।