समाचार
अकासा एयर को जुलाई के अंत तक परिचालन शुरू करने हेतु डीजीसीए से मिली हरी झंडी

भारत की नवीनतम हवाई सेवा अकासा एयर ने नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) से अपना एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट (एओसी) प्राप्त कर लिया।

एओसी की स्वीकृति डीजीसीए द्वारा निर्धारित एक व्यापक और कठोर प्रक्रिया का अंतिम चरण है। यह एयरलाइन की परिचालन तत्परता के लिए सभी नियामक और अनुपालन आवश्यकताओं को संतोषजनक ढंग से पूरा करने का प्रतीक है।

हाल ही में अकासा एयर ने अपना पहला बोइंग 737 मैक्स विमान प्राप्त किया था। इस माह के अंत में एयरलाइन दो विमानों के साथ वाणिज्यिक परिचालन शुरू करेगी और हर महीने अपने बेड़े में विमान शामिल करती रहेगी।

वित्तीय वर्ष 2022-23 के अंत तक एयरलाइन 18 विमानों को सम्मिलित कर लेगी। उसके बाद प्रत्येक 12 माह में 12-14 विमान जोड़ेगी, जो 5 वर्षों में वितरित किए जाने वाले 72 विमानों के ऑर्डर को पूरा करेगा।

कंपनी ने कहा, “डिजिटलीकरण के एक नए युग की शुरुआत करने के लिए सरकार की पहल के बाद अकासा एयर को पहली एयरलाइन होने पर गर्व है। इसकी एंड-टू-एंड एओसी प्रक्रिया सरकार के प्रगतिशील ईजीसीए डिजिटल मंच का उपयोग करके आयोजित की गई थी। देश के उड्डयन नियामक की देखरेख में कई उड़ानें सफलतापूर्वक संचालित करने वाली एयरलाइन के साथ प्रक्रिया समाप्त हुई।”

अकासा एयर के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनय दुबे ने कहा, “हम नागरिक उड्डयन मंत्रालय और डीजीसीए के उनके रचनात्मक मार्गदर्शन, सक्रिय समर्थन और एओसी प्रक्रिया के दौरान दक्षता के उच्चतम स्तर के लिए बेहद आभारी हैं। अब हम अपनी उड़ानें शुरू करने के लिए तत्पर हैं, जिससे जुलाई के अंत तक वाणिज्यिक परिचालन शुरू हो जाएगा।”

अरबपति निवेशक राकेश झुनझुनवाला-समर्थित एयरलाइन स्टार्टअप अकासा एयर ने 72 बोइंग 737 मैक्स हवाई जहाजों का ऑर्डर दिया है।कंपनी के अनुसार, 737 मैक्स के विमान ईंधन के उपयोग और कार्बन उत्सर्जन को कम करने में बेहतर दक्षता प्रदान करते हैं।