समाचार
प्रतिस्पर्धा आयोग ने एयर इंडिया को एयर एशिया इंडिया के अधिग्रहण की स्वीकृति दी

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने एयर इंडिया द्वारा एयर एशिया इंडिया में संपूर्ण शेयरधारिता के अधिग्रहण को स्वीकृति दे दी है।

प्रस्तावित संयोजन में टाटा संस प्राइवेट लिमिटेड (टीएसपीएल) की परोक्ष रूप से पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी कंपनी एयर इंडिया लिमिटेड (एआईएल) के एयरएशिया (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड की संपूर्ण इक्विटी शेयर पूंजी के अधिग्रहण के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी गई।

इस निर्णय के साथ मलेशिया की एयर एशिया लगभग नौ वर्षों तक देश में परिचालन के बाद भारत में एयरलाइन व्यवसाय छोड़ देगी।

एयर एशिया इंडिया टीएसपीएल और एयर एशिया इन्वेस्टमेंट लिमिटेड (एएआईएल) के मध्य एक संयुक्त उद्यम है। इसमें टीएसपीएल के पास वर्तमान में 83.67 प्रतिशत और एएआईएल की 16.33 प्रतिशत भागीदारी है।

एयर एशिया इंडिया ‘एयरएशिया’ के ब्रांड नाम के तहत काम करती है और भारत में घरेलू अनुसूचित हवाई यात्री परिवहन सेवा, हवाई मालभाड़ा परिवहन सेवाएँ और चार्टर उड़ान सेवाएँ प्रदान करती है।

एयरएशिया इंडिया अंतर-राष्ट्रीय मार्गों पर अनुसूचित हवाई यात्री परिवहन सेवाएँ प्रदान नहीं करती है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, एयर इंडिया 139 करोड़ रुपये में एयरलाइन साझेदारी में एयरएशिया की 16.3 प्रतिशत भागीदारी खरीदेगी।

इससे पूर्व, इस वर्ष 27 जनवरी को टाटा संस ने एयर इंडिया को अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी टैलेस के जरिए सरकार से 18,000 करोड़ रुपये के सौदे में खरीदा था।