समाचार
विजय रूपाणी ने 2022 में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव से पूर्व मुख्यमंत्री पद त्यागा

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शनिवार (11 सितंबर) को मुख्यमंत्री पद त्याग दिया। उन्होंने राज्यपाल आचार्य देवव्रत से भेंट करके उन्हें अपना त्याग-पत्र सौंपा। उन्होंने इस ज़िम्मेदारी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी के उच्च अधिकारियों का आभार प्रकट किया।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, पद त्यागने के बाद विजय रूपाणी ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विशेष मार्गदर्शन मिलता रहा, जिसकी सहायता से गुजरात ने नए आयामों को छुआ है। गत पाँच वर्षों में मुझे अपना योगदान देने का जो अवसर मिला, इसके लिए मैं प्रधानमंत्री का आभार प्रकट करता हूँ।”

बता दें कि गुजरात में अगले वर्ष दिसंबर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। हालाँकि, शंकर सिंह वाघेला आशंका जता चुके हैं कि उत्तर प्रदेश के साथ ही गुजरात के भी विधानसभा चुनाव हो सकते हैं।

वहीं, अब गुजरात के मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में पाँच नाम सामने आ रहे हैं, जिनमें केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया, केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन एवं डेयरी मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला, उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल, सीआर पाटिल व गोरधन जताफिया हैं।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, विजय रूपाणी के कार्यकाल में प्राप्त उपहारों की नीलामी 13 सितंबर को की जाएगी। इसकी राशि कन्या केलावणी निधि (बालिका प्रशिक्षण कोष) में भेजी जाएगी। राज्य सरकार के अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री को कार्यक्रमों और दौरों के दौरान मिले उपहारों को अहमदाबाद में प्रदर्शित और नीलाम किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि यह प्रथा नरेंद्र मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यकाल से चली आ रही है। नीलामी कार्यक्रम अहमदाबाद जिलाधिकारी संदीप सांगले द्वारा शुरू किया जाएगा।