समाचार
वनवेब ने उपग्रह प्रक्षेपण के लिए इसरो की वाणिज्यिक शाखा संग समझौता किया

भारत के अंतरिक्ष क्षेत्र को बढ़ावा देने हेतु भारती समूह समर्थित वनवेब ने अपने उपग्रहों के प्रक्षेपण हेतु भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की वाणिज्यिक शाखा न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए।

एक वैश्विक उपग्रह इंटरनेट सेवा प्रदाता वनवेब का मुख्यालय लंदन में है और सुनील मित्तल के नेतृत्व वाले भारती समूह और यूके सरकार द्वारा समर्थित है।

कंपनी ने बुधवार (20 अप्रैल) को एक बयान में कहा, “एनएसआईएल के साथ समझौता वनवेब को अपने उपग्रह प्रक्षेपण कार्यक्रम को पूरा करने में सहायता करेगा। न्यू स्पेस इंडिया के साथ पहला प्रक्षेपण 2022 में श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एसडीएससी) शार से होने की अपेक्षा है।”

कंपनी के कार्यकारी अध्यक्ष सुनील भारती मित्तल ने कहा, “यह अंतरिक्ष में सहयोग के लिए एक और ऐतिहासिक दिन है। न्यू स्पेस इंडिया और वनवेब की साझा महत्वाकांक्षा और दृष्टि के लिए धन्यवाद। लॉन्च योजनाओं पर यह सबसे हालिया समझौता इसके नेटवर्क के विकास में काफी तेज़ी लाता है क्योंकि हम वैश्विक स्तर पर समुदायों को जोड़ने के अपने सामान्य लक्ष्य की दिशा में अंतरिक्ष उद्योग में एक साथ काम करते हैं।”

मार्च 2022 में घोषित उपग्रह प्रक्षेपण को पुनः शुरू करने के लिए कंपनी को सक्षम करने हेतु यह लॉन्च अनुबंध वनवेब और स्पेसएक्स के मध्य एक अलग समझौते का पालन करता है।

कंपनी ने कहा कि वनवेब ने पहले ही अपने नेटवर्क के साथ 50वें समानांतर और उससे ऊपर की सेवा को सक्रिय कर दिया है क्योंकि कंपनी की ब्रॉडबैंड संयोजकता सेवाओं की मांग कई क्षेत्रों और बाज़ारों से लगातार बढ़ रही है।