समाचार
तालिबान ने हेरात व कंधार में बंद भारतीय वाणिज्य दूतावासों पर छापे मारे, वाहन भी ले गए

ऐसा कहा जा रहा है कि तालिबान की सेनाओं ने बुधवार (18 अगस्त) को अफगानिस्तान के कंधार और हेरात प्रांतों में बंद भारतीय वाणिज्य दूतावासों पर छापे मारे। हालाँकि, जलालाबाद और काबुल में वाणिज्य दूतावास और दूतावास के साथ क्या हो रहा है, इस बारे में कोई विवरण अब तक उपलब्ध नहीं है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, छापेमारी के दौरान तालिबान के जवानों ने दस्तावेजों की तलाशी ली और अंतत: वे दोनों दूतावासों पर खड़े वाहनों को भी ले गए।

यह घटना ऐसे समय पर आई है, जब तालिबान के लोग आक्रामक रूप से घर-घर जाकर उन अफगान नागरिकों की पहचान कर रहे हैं, जिन्होंने अतीत में राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय (एनडीएस) के लिए काम किया है। एनडीएस अफगानिस्तान की सरकारी खुफिया एजेंसी है।

वहीं, युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में सत्ता संघर्ष जारी है। तालिबान ने जहाँ दो दशकों के अंतराल के बाद सत्ता हथिया ली है, जब अमेरिका के नेतृत्व वाली सेना देश में उतरी थी और आतंकवादी संगठन को सत्ता से बाहर कर दिया था।

पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई और अध्यक्ष एचसीएनआर अब्दुल्ला अब्दुल्ला की औपचारिक रूप से तालिबान नेता मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को एक मंचित कार्यक्रम में राष्ट्रपति भवन में सत्ता सौंपने के लिए वार्ता चल रही है।