समाचार
पाकिस्तान में मदरसे पर पुनः फहरा अफगान तालिबान का ध्वज, एक माह में तीसरी घटना

अफगानिस्तान में तालिबान के नियंत्रण का असर अब स्पष्ट तौर पर पड़ोसी देश में भी देखने को मिल रहा है। पाकिस्तान में महिलाओं के एक मदरसे पर अफगान तालिबान का ध्वज फहराया गया। इस मामले में पाक प्रशासन ने एक कट्टरपंथी मौलवी व अन्य लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया।

हिंदुस्तान लाइव ने समाचार पत्र डॉन के हवाले से रिपोर्ट की कि इस्लामाबाद में शनिवार को एक महिला मदरसे जामिया हफ्सा की छत पर अफगान तालिबान के सफेद ध्वज देखे गए। इस पर जिला प्रशासन की दंगा रोधी इकाई सहित पुलिस की एक टुकड़ी मौके पर पहुँची और मदरसे की घेराबंदी की।

इस्लामाबाद की प्रसिद्ध लाल मस्जिद के मौलवी मौलाना अब्दुल अजीज़ सहित उनके सहयोगियों के अतिरिक्त मदरसे के विद्यार्थियों के विरुद्ध आतंकवाद निरोधी अधिनियम (एटीए) और पाकिस्तान दंड संहिता की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया। अधिकारियों का कहना है कि मौलवी ने अफगान तालिबान के नाम का उपयोग कर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी थी।

यही नहीं, मौलाना अजीज़ सहित मदरसे से जुड़े कुछ लोगों ने हथियारों का प्रदर्शन भी किया। विद्यार्थियों और शिक्षकों ने पुलिस को चुनौती दी थी। इससे क्षेत्र में तनाव उत्पन्न हो गया था। बता दें कि 21 अगस्त के बाद यह तीसरा अवसर है, जब पाकिस्तान के मदरसों पर अफगान तालिबान के ध्वज फहराए गए।