समाचार
पंजाब में आप ने 117 में से 92 सीटें जीतीं, सिंद्धू, कैप्टन से लेकर कई दिग्गज हारे

पंजाब में अरविंद केजरीवाली के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) ने दमदार प्रदर्शन करते हुए कुल 117 विधानसभा सीटों में से 92 पर जीत दर्ज की। दूसरे नंबर पर कांग्रेस रही, जो 18 सीटों पर ही अपना कब्जा कर पाई। भाजपा के खाते में सिर्फ दो सीटें ही आईं।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब के लोगों ने नवजोत सिंह सिद्धू के पंजाब मॉडल की बजाए अरविंद केजरीवाल को मौका देने पर अधिक विश्वास जताया। कहा जा रहा कि भगवंत मान पंजाब के नए मुख्यमंत्री होंगे। वे शहीद-ए-आजम भगत सिंह की धरती खटकड़ कलां में शपथ लेंगे।

पंजाब में एक पार्टी द्वारा प्राप्त की गई यह सबसे बड़ी जीत है। इससे पूर्व 2017 में कांग्रेस ने 77 सीटें जीतकर इस तरह का परचम लहराया था। बताया जा रहा है कि आप के अधिकतर उम्मीदवार 20,000 से अधिक वोटों के अंतर से जीते हैं।

इस बार के विधानसभा चुनाव में लगभग कई बड़े दिग्गजों को पराजय का मुँह देखना पड़ा है। अजेय बने हुए प्रकाश सिंह बादल, सुखबीर सिंह बादल, बिक्रम सिंह मजीठिया, कैप्टन अमरिंदर सिंह, बीबी राजिंदर कौर भट्टल, लगातार छह बार से जीत रहे परमिंदर सिंह ढींडसा, राणा केपी सिंह, कांग्रेस के नवजोत सिंह सिद्धू, मनप्रीत बादल सहित कई बड़े नेता अपनी सीटें हार गए।

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी अपनी दोनों चमकौर साहिब और भदौड़ सीटें हार गए हैं। चन्नी कैबिनेट के सिर्फ छह मंत्री सुखजिंदर रंधावा, तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, अरुणा चौधरी, परगट सिंह, सुखबिंदर सिंह सरकारिया, अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग और राणा गुरजीत सिंह अपनी सीटें बचा सके।