समाचार
“भारत में 5जी नेटवर्क का विकास अपने अंतिम चरण में है”- दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव

एक सकारात्मक विकास में दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि भारत ने अपना 4जी कोर और रेडियो नेटवर्क विकसित कर लिया है। अब 5जी नेटवर्क देश में विकास के अपने अंतिम चरण में है।

उन्होंने यह भी कहा कि अब भारत 6जी मानकों के विकास में भाग ले रहा है।

संचार मंत्रालय की एक विज्ञप्ति में कहा गया कि केंद्रीय मंत्री ने मंगलवार (8 फरवरी) को इंडिया टेलीकॉम 2022 का उद्घाटन किया- योग्य विदेशी खरीदारों से भेंट हेतु भारतीय दूरसंचार हितधारकों को अवसर प्रदान करने के लिए एक विशेष अंतर-राष्ट्रीय व्यापार एक्सपो आयोजित किया गया।

यह कार्यक्रम दूरसंचार उपकरण और सेवा निर्यात संवर्धन परिषद् (टीईपीसी) की ओर से 8 से 10 फरवरी तक वाणिज्य विभाग की बाज़ार पहुँच पहल योजना (एमएआई) के तहत और दूरसंचार विभाग के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है।

अश्विनी वैष्णव ने कहा, “भारत एक प्रमुख इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण केंद्र के रूप में उभरा है। आज भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण 75 अरब डॉलर के करीब है। यह 20 प्रतिशत से अधिक सीएजीआर से बढ़ रहा है।”

उन्होंने कहा, “हमने अब एक प्रमुख अर्धचालक कार्यक्रम शुरू किया। यह एक बहुत व्यापक कार्यक्रम है, जिसमें सिलिकॉन चिप से लेकर यौगिक अर्धचालक, डिज़ाइन के नेतृत्व में विनिर्माण, डिज़ाइन में उद्यमियों की एक शृंखला बनाना और अंत में 85,000 अर्धचालक इंजीनियरों को विकसित करना है।”

प्रौद्योगिकी के विकास पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, “देश ने अपना स्वदेशी रूप से विकसित 4जी कोर और रेडियो नेटवर्क भी विकसित किया है। 5जी नेटवर्क भी विकास के अंतिम चरण में है। देश आज 6जी मानकों के विकास में भाग ले रहा है।”