समाचार
₹7.53 लाख करोड़ की 484 रेलवे परियोजनाओं में से कई अंतिम चरण में हैं- रेल मंत्री

1 अप्रैल 2021 तक लगभग 7.53 लाख करोड़ रुपये की लागत वाली 51,165 किलोमीटर लंबाई की 484 रेलवे परियोजनाओं में से कई पूरे होने के अंतिम चरणों में हैं। इसमें से 10,638 किमी लंबाई की परियोजनाओं को चालू किया जा चुका है और मार्च 2021 तक लगभग 2.14 लाख करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं।

यह जानकारी केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार (8 दिसंबर) को लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में दी।

इन रेलवे परियोजनाओं में 21,037 किलोमीटर लंबाई की 187 नई लाइन परियोजनाएँ सम्मिलित हैं, जिनकी लागत 4,05,916 करोड़ रुपये है। 6,213 किलोमीटर लंबाई की 46 गेज परिवर्तन परियोजनाएँ हैं, जिनकी लागत 53,171 करोड़ रुपये और 23,915 किलोमीटर लंबाई की 251 दोहरीकरण परियोजनाएँ हैं, जिनकी लागत 2,93,471 करोड़ रुपये है।

नई लाइन परियोजनाओं में से 2,621 किमी लंबाई को चालू कर दिया गया है और 1,05,591 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

गेज परिवर्तन परियोजनाओं में मार्च 2021 तक 3,587 किलोमीटर लंबाई को चालू कर दिया गया और 22,184 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

साथ ही, मार्च 2021 तक 86,041 करोड़ रुपये के साथ 4,430 किलोमीटर लंबाई की दोहरीकरण परियोजनाओं को चालू किया गया।

रेल मंत्रालय के अनुसार, लागत, व्यय और परिव्यय सहित रेलवे परियोजनाओं का क्षेत्रीय रेलवेवार विवरण भारतीय रेलवे की वेबसाइट पर सार्वजनिक डोमेन में उपलब्ध कराया जाता है।

रेलवे परियोजनाओं को क्षेत्रीय रेलवे के अनुसार स्वीकृत किया जाता है ना कि राज्य-वार क्योंकि रेलवे की परियोजनाएँ राज्य की सीमाओं के पार हो सकती हैं।