समाचार
बिहार के आमस-दरभंगा एक्सप्रेसवे के दो पैकजों हेतु चार कंपनियों ने लगाईं सात बोलियाँ

बिहार के पहले आमस-दरभंगा एक्सप्रेसवे के 230 किलोमीटर लंबे प्रारंभिक दो पैकेजों के लिए चार कंपनियों ने कुल सात बोलियाँ लगाई हैं। ये चार कंपनियाँ मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर्स, पीएनसी इंफ्राटेक, राम कृपाल सिंह कंस्ट्रक्शन और विश्व समुद्र इंजीनियरिंग हैं।

एनएचएआई द्वारा बनाया जाने वाला यह एक्सप्रेसवे अधिकांशतः ग्रीनफील्ड यानी अविकसित क्षेत्र से गुज़रने वाला छह लेन एक्सप्रेसवे होगा। इसका मुख्य उद्देश्य एनएच 2 और एनएच 57 के बीच यात्रा समय कम करके दूरस्थ क्षेत्रों व बड़े शहरों के माध्यम से दक्षिण और उत्तरी बिहार को जोड़ना है।

बिहार सड़क निर्माण विभाग के मुखिया भाजपा के नेता नितिन नबीन ने अप्रैल से इसपर निर्माण कार्य आरंभ करने की बात कही थी। यह एक्सप्रेसवे झारखंड सीमा के निकट स्थित आमस को उत्तरी बिहार के दरभंगा से जोड़ेगा। यह औरंगाबाद, गया और पटना के बाहरी क्षेत्रों से गुज़रेगा और पटना आउटर रिंग रोड का उपयोग करेगा।