समाचार
उदयपुर में नुपुर के समर्थन पर हिंदू दर्जी की दो मुसलमानों ने की हत्या, पाक से जुड़े तार

नुपुर शर्मा के समर्थन में एक पोस्ट करने के कारण राजस्थान के उदयपुर में एक दर्जी कन्हैयालाल की दो मुस्लिम युवकों ने निर्मम हत्या कर दी। इस हत्याकांड के तार अब पाकिस्तान से जुड़े बताए जा रहे हैं।

ज़ी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, घटना को अंजाम देने वाले दो आरोपियों के तार कराची आधारित सुन्नी इस्लामिक संगठन दावत-ए-इस्लामी से जुड़े बताए जा रहे हैं। इसके कुछ आतंकी 2011 में पाकिस्तान में पंजाब राज्य के गवर्नर सलमान तासीर की हत्या सहित कई आतंकी घटनाओं में सम्मिलित थे।

मंगलवार को दोनों आरोपी, जिसमें भीलवाड़ा निवासी 38 वर्षीय रियाज अटारी और उदयपुर का 39 वर्षीय गौस मोहम्मद, कन्हैयालाल की दुकान में मंगलवार को घुस गए और उसकी हत्या कर दी। उन्होंने एक वीडियो भी बनाया, जिसमें वो घटना के बारे में बताते नज़र आए हैं।

वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के बाद दोनों आरोपी हेल्मेट पहनकर वहाँ से भागने लगे। इस दौरान पुलिस ने उन्हें नाका लगाकर राजसमंद जिले में पकड़ लिया। आरोपी अजमेर शरीफ की दरगाह की ओर भाग रहे थे और वहाँ एक और वीडियो बनाने वाले थे। घटना के बाद धारा 144 और इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाने जैसे कदम उठाए गए हैं।

वीडियो बनाने के दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी धमकी दी है। कहा जा रहा है कि आरोपियों ने पूछताछ में स्वयं के सुन्नी इस्लाम के सूफी बरेलवी पंथ से जुड़े होने की बात स्वीकारी है। उन्होंने कराची में मौजूद संगठन दावत-ए-इस्लामी से संबंध होने की बात भी कही है। दोनों पर यूएपीए के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है और मामला एनआईए के हवाले कर दिया गया है।